Elvish yadav :- करते थे सापों के जहर की कारोबारी, इस बारे में अभी तक कोई खुफिया खबर नही मिलीं है, लेकिन नोएडा पुलिस ने Elvish yadav के खिलाफ 29 NDPS एक्ट लगाया है इस एक्ट के लगाने से Elvish yadav की मुश्किलें ओर भी बढ़ गई, इसके अलावा पुलिस ने दावा किया है कि पूछताछ में Elvish yadav ने सांप और सांप का ज़हर मंगवाने की बात कबूल किया

नोएडा पुलिस के सूत्रों के मुताबिक एल्विश यादव ने स्वीकार किया है कि वो पार्टी में सांप और सांपो का जहर मंगवाता था. इसके अलावा उसने ये भी माना है कि वो पुलिस की गिरफ्त में मौजूद अन्य आरोपियों को पहले से जानता था’रविवार को नोएडा पुलिस ने Elvish yadav को पूछताछ के लिए बुलाया था. इसके बाद पुलिस ने Elvish को गिरफ्तार कर लिया था और कोर्ट के सामने पेश किया था, जहां से अदालत ने Elvish yadav को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. अब पुलिस सूत्रों ने बताया है कि पूछताछ में Elvish yadav ने कबूल किया है कि वो राहुल समेत सभी गिरफ्तार आरोपियों से अलग अलग रेव पार्टियों में मिल चुका था और जान पहचान थी इसके अलावा उसने आरोपियों से संपर्क में होने की बात भी मानी है

आसानी से नहीं मिलेगी जमानत :- नोएडा पुलिस ने एल्विश यादव पर NDPS एक्ट की धारा 29 लगाई है. NDPS एक्ट की ये धारा तब लगाई जाती है जब कोई ड्रग से जुड़ी साजिश में शामिल हो. जैसे ड्रग की खरीद फरोख्त में. इस एक्ट में आरोपी को आसानी से जमानत नहीं मिलती है. ऐसे में एल्विश के लिए मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही हैं.

क्या है पूरा मामला  ? :- पिछले साल नवंबर में नोएडा से पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया था. ये पांच लोग थे राहुल, टीटूनाथ, जय करन, नारायण और रविनाथ. इनके पास से पुलिस को कई तरह के सांप और सांप का ज़हर मिला था. पूछताछ में पता चला कि सांपो के जहर का इस्तेमाल रेव पार्टियों में होता है. साथ ही आरोपियों ने पूछताछ में ये भी खुलासा कर दिया था कि Elvish yadav की पार्टियों में भी जहर से बने ड्रग्स का इस्तेमाल होता है

इसके बाद पुलिस ने इन तमाम आरोपियों के साथ साथ Elvish yadav के खिलाफ भी केस दर्ज किया था. कई बार पहले भी Elvish से पूछताछ हुई, मगर बीते रोज़ पुलिस ने पूछताछ के बाद Elvish को गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में पहले गिरफ्तार हुए पाचों आरोपी फिलहाल जमानत पर बाहर हैं.

एल्विश के खिलाफ धाराओं में केस :- पुलिस ने बताया है कि Elvish yadav के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972, आईपीसी की धारा 120बी (आपराधिक साजिश), 284 (जहर से संबंधित लापरवाही भरा आचरण) और 289 (जानवरों के संबंध में लापरवाही भरा आचरण) के तहत मामला दर्ज किया गया था. इसके बाद पुलिस ने अब एनडीपीएस एक्ट भी लगा दिया है. हालांकि एल्विश यादव खुद पर लगे इन आरापों से इनकार करते रहे  हैं।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

en_GBEnglish